दवाई दी और सिर्फ 10 दिनों में ले ली महाविध्वंसक हरपून मिसाइल, मोदी की जबरजस्त कामयाबी, गज़ब कूटनीति


साल 2016 से ही अमेरिका ने जिस मिसाइल डील पर फाइलों को अटका रखा था उसे नरेंद्र मोदी की कूटनीति ने सिर्फ 10 दिनों में क्लियर करवा दिया 

भारत को महा विध्वंसक हरपून मिसाइल मिल चुकी है, अमेरिका ने भारत को हरपून मिसाइल देने पर हस्ताक्षर कर दिए है और अब ये मिसाइल भारतीय सेना के पास होगी 

अमेरिका ने 155 मिलियन डॉलर में ही भारत के साथ हरपून मिसाइल की डील कर ली है और इसके साथ साथ कई तरह के तारपीडो भी अमेरिका भारतीय सेना के साथ शेयर करेगा 

हरपून अमेरिकी सेना का सबसे महत्वपूर्ण मिसाइल है, ये हर मौसम में, हर स्तिथि में काम करने वाला मिसाइल है जिस से हवा और जमीन दोनों पर मार किया जाता है, ये हवाई जहाज, पानी के जहाज और जमीन तीनो ही स्थानों से लौंच किया जा सकता है 

इस मिसाइल की सबसे बड़ी खासियत ये है की इसे अत्याधुनिक राडार भी पकड़ नहीं पाते, यानि इस से प्रहार किया तो दुश्मन तबाह माना जाता है, हरपून मिसाइल के साथ साथ भारत को अमेरिका से अत्याधुनिक तारपीडो भी मिलेंगे जिसे दुश्मन देशों के पानी के जहाज मारने में इस्तेमाल किया जाता है 

अमेरिका ने हरपून डील को काफी लम्बे समय से अटकाया हुआ था पर अब हाइड्रोक्सीकोलोरो कुइने दवाई को देकर भारत ने सिर्फ 10 दिनों में ही अमेरिका से हरपून डील पर साइन करवा लिया 

बता दें की अमेरिका ने भारत से हाइड्रोक्सीकोलोरो कुइने दवाई मांगी थी जिसके बदले भारत ने अमेरिका के फार्मा मार्किट को अपनी कंपनियों के लिए खुलवा लिया है साथ ही साथ कई डील जिसे अमेरिका ने लम्बे समय से लटकाया हुआ था उसे भी क्लियर करवाया जा रहा है, ये नरेंद्र मोदी सरकार की जबरजस्त कामयाबी ही मानी जाएगी जिन्होंने दवाई के बदले अमेरिका से कई चीजें ले ली है