2002 में ही मोदी और शाह को ख़त्म करवा देना चाहिए था, अच्छा होता : अलका लांबा


आये दिन घटिया हरकतों और घटिया बयानबाजी के लिए कुख्यात कांग्रेस नेता अलका लांबा ने अब प्रधानमंत्री मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को ख़त्म करवाने की बात कही है 

अलका लांबा ने कहा है की कांग्रेस से एक बड़ी गलती हो गयी है, नरेंद्र मोदी और अमित शाह को 2002 में ही ख़त्म करवा दिया होता तो अच्छा होता 

देखिये अलका लांबा का त्वीट जिसमे वो बिना नाम लिए मोदी और अमित शाह को ख़त्म करवाने की बात कह रही है और बड़ी ही शातिर भी बन रही है की उसने किसी का नाम नहीं लिया 



देश की जनता को अलका लांबा मुर्ख समझती है की नाम नहीं लेगी तो चालाक साबित हो जाएगी, कांग्रेस के नेताओं एक मन में नरेंद्र मोदी और अमित शाह के लिए नफरत कोई नयी चीज नहीं है और अलका लांबा ने उसी नफरत का प्रदर्शन एक बार फिर किया है 

बता दें की जिस नरेंद्र मोदी और अमित शाह को अलका लांबा ख़त्म करवाने की बात कह रही है, कांग्रेस की सरकार ने दोनों को फंसाने की बहुत कोशिश की पर देश के सुप्रीम कोर्ट से हर तरह के मामले में मोदी और अमित शाह को पूरी जांच के बाद क्लीन चिट दिया है