आज ये कल आप ? दिनदहाड़े उतार दिया गया 2 हिन्दू संतो को मौत के घाट


अगर गंभीरता से देखा जाये तो हिन्दू का पतन आज से नहीं हो रहा, कभी अरब से लेकर इंडोनेशिया तक हिन्दू ही हिन्दू था, जो अब बचे कुचे भारत में भी मौत के घाट उतारा जा रहा है, और उसकी असल औकात ये हो गयी है की किसी को फर्क भी नहीं पड़ रहा, कदाचित हिन्दू अब कीड़ा हो चूका है जिसके मरने से किसी को फर्क नहीं पड़ता, किसी की तो बात ही छोडिये खुद अधिकतर हिन्दुओ को भी कोई फर्क नहीं पड़ता 

पर कभी न कभी ये आग आपके घर तक भी पहुंचेगी, कभी न कभी आपका भी नंबर आएगा, अगर आप ये सोचते है की आप सुरक्षित ही रहेंगे, तो ये ही सोच उन सभी की थी जो अब मिट गए, ऊपर जिन 2 संतों की तस्वीर आप देख रहे है ये दोनों जुना अखाड़े के संत है, दोनों के नाम है कल्पवृक्ष गिरि , सुशील गिरि

कल्पवृक्ष गिरि , सुशील गिरि को महाराष्ट्र के पालघर में दिन दहाड़े मौत के घाट उतार दिया गया, उन्हें बचाने कोई नहीं आया, उनको पुलिस की मौजूदगी में मौत के घाट उतारा गया, मारा गया तबतक मारा गया जबतक दोनों की जान नहीं निकल गयी, साथ ही साथ इनके ड्राईवर को भी मौत के घाट उतार दिया गया, सिर्फ इसलिए क्यूंकि दोनों ने भगवा वस्त्र पहने हुए थे, दोनों देखने से ही हिन्दू संत लग रहे थे 

अगर आपने इस घटना का विडियो अबतक नहीं देखा तो वो भी देख लीजिये की एक वृद्ध संत को किस तरह मौत के घाट उतारा जा रहा है 

पुलिस मौजूद है और पुलिस की मौजूदगी में 2 हिन्दू संतों को मौत के घाट उतारा जा रहा है, ये पुलिस एनसीपी शिवसेना कांग्रेस की सरकार के अंतर्गत आती है, राज्य का मुख्यमंत्री शिवसेना का है और गृहमंत्री एनसीपी का, 2 हिन्दू संतों को मौत के घाट उतारा जा रहा है और पुलिस बचाने की तो छोडिये, हत्यारों को रोकने की भी कोशिश नहीं कर रही, शायद पुलिस के लिए ये हिन्दू संत कीड़े है जिनको मरने से किसी को फर्क नहीं पड़ने वाला 

ये हाल इस देश का अब हो चूका है जहाँ संतों को मौत के घाट उतार दिया गया पर खुद को सेक्युलर लिबरल कहने वालो ने, मोब लिंचिंग का नाम लेकर रोने वाले तमाम लोग मौन है, और इन लोगो को तो छोडिये, पूरा हिन्दू समाज ही मौन है, जैसे वो खुद के नंबर आने का ही इंतज़ार कर रहा हो, पर ये एक सच्चाई है की जब आपकी बारी आ जाएगी तो आपको भी कोई नहीं बचाएगा जैसे की इन दोनों संतो को किसी ने नहीं बचाया