ये क्या दलाली है ? वहां चीनी मीडिया भारत के खिलाफ फैला रही नफरत यहाँ शेखर गुप्ता कर रहा चीन की तारीफ



माफ़ कीजिये शब्द थोड़े कठोर है पर फ़िलहाल इस्तेमाल करना जरुरी है, एक तरफ चीन की मीडिया भारत के खिलाफ लगातार प्रोपगंडा चला रही है, भारत के खिलाफ आये दिन नफरत वाले आर्टिकल लिखे जाते है, वहीँ भारत में एडिटर्स गिल्ड का अध्यक्ष शेखर गुप्ता चीन की तारीफ कर रहा है, लगातार चीन के पक्ष में आर्टिकल लिख रहा है, इसे दलाली कहेंगे या भडवागिरी ये समझना मुश्किल है 

आप स्वयं ही देखिये कैसे चीनी मीडिया ग्लोबल टाइम्स भारत के खिलाफ आये दिन आर्टिकल्स लिखता है, भारत पर निशाना साधा जाता है, उदाहरण देखिये 





चीन की मीडिया तो लगातार भारत के खिलाफ प्रोपगंडा और नफरत का कारोबार चला रही है वहीँ भारत में एडिटर्स गिल्ड का अध्यक्ष अपने न्यूज़ पोर्टल 'द प्रिंट' पर क्या कर रहा है उसका नमूना देखिये 






अब भारतीय मीडिया के कथित संगठन एडिटर्स गिल्ड के अध्यक्ष को आप क्या कहेंगे ? चीन का दलाल या कुछ और

जहाँ चीन भारत के खिलाफ नफरत का कारोबार चला रहा है तो यहाँ एडिटर्स गिल्ड का अध्यक्ष चीन के पक्ष में एक के बाद एक आर्टिकल लिखकर चीन की तारीफों के पुल बाँध रहा है, कदाचित इसी कारण अब भारत में मीडिया को अब लोग दलाली से जोड़ने लग गए है