केजरीवाल ने तबलीगी जमात के पक्ष में लिखा गृह मंत्रालय को पत्र, बताया मासूम संगठन जिसकी कोई गलती कोई साजिश नहीं



दिल्ली की अरविन्द केजरीवाल सरकार ने तबलीगी जमात और मौलाना साद को क्लीन चिट दे दिया है, मौलाना साद के खिलाफ हाल ही में पुलिस ने कई मामलों में केस दर्ज किया है जिसमे हाथ की प्रयास, हत्या की साजिश का मामला भी शामिल है 

बता दें की मौलाना साद ने दिल्ली के निजामुद्दीन में मरकज का आयोजन किया था, इस मरकज में विदेशी मुसलमानों को भी गैर क़ानूनी तरीके से बुलाया गया था, इसी मरकज के जरिये देश के कोने कोने में कोरोना भी फैलाया गया और मौलाना साद फरार हो गया 

दिल्ली पुलिस ने मौलाना साद और अन्य के खिलाफ केस दर्ज किया तो अब दिल्ली सरकार के माइनॉरिटी कमीशन ने देश के गृह मंत्रालय को पत्र लिखकर मौलाना साद और तबलीगी जमात को क्लीन चिट दे दी है 

केजरीवाल सरकार के माइनॉरिटी कमीशन ने कहा है की - मौलाना साद और तबलीगी जमात ने कोई साजिश नहीं की है और न ही तबलीगी जमात की कोई गलती है, देश में कोरोना फ़ैलाने के पीछे तबलीगी जमात का कोई हाथ नहीं है और ये एक मासूम मजहबी संगठन है जो कुछ बुरा काम कर ही नहीं सकता 

इस से पहले दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येन्द्र जैन ने भी तबलीगी जमात का समर्थन किया था और कहा था की - जमात की कोई गलती नहीं है, ये तो भाषा की समस्या थी जिसके कारण जमात को पुलिस की बात समझ में नहीं आई, सब गलती भाषा की है

अब सत्येन्द्र जैन के बाद दिल्ली सरकार के माइनॉरिटी कमीशन ने भी मौलाना साद और तबलीगी जमात को क्लीन चिट दे दिया है