रांची की ऋचा भारती का जीना दूभर किया, घर में थूकते है मुसलमान, परिवार ने कहा - गोली मार दो


झारखण्ड में JMM-कांग्रेस की सरकार बनने के बाद मजहबी उन्मादी चारों ओर उन्माद मचा रहे है, आपको रांची की ऋचा भारती याद होगी, वहीँ जिनको मजहबी उन्मादियों के उन्माद के चलते बीजेपी की सरकार में भी प्रताड़ित होना पड़ा था और अदालत ने उन्हें कुरआन बांटने की सजा दी थी 

अब JMM-कांग्रेस की सरकार बनने के बाद रांची में ऋचा भारती और उनके परिवार का जीवन नर्क जैसा हो चूका है 

ऋचा भारती पर मजहबी उन्मादी लगातार हमले कर रहे है, मजहबी उन्मादी उनके घर पर थूकते है और तो और परिवार का ये भी कहना है की पुलिस भी उन्ही को प्रताड़ित कर रही है, ऋचा भारती और उनका परिवार इतना तंग आ चूका है की परिवार का कहना है की हमे गोली मार दो 

ऋचा भारती के पिता को इन दिनों थाने का लगातार चक्कर लगाना पड़ रहा है, वो कहते है की - "मुझे तो हिंदुस्तान में रहने में ही डर लग रहा है। क्या झारखण्ड पाकिस्तान बन गया है? अगर हमें इस तरह से प्रताड़ित किया जाता रहा तो हम कहाँ जाएँगे?”

ऋचा भारती के पिता ने बताया की उनके परिवार को झारखण्ड की सरकार, पुलिस और स्थानीय मुसलमान लगातार प्रताड़ित कर रहे है, अचानक 23 अप्रैल को 5-6 पुलिस वाले आये और ऋचा भारती का मोबाइल ले गए, क्या कारण था किसी ने नहीं बताया


ऋचा के पिता का ये भी कहना है की - पुलिस के अलावा स्थानीय मुसलमान भी हमे प्रताड़ित कर रहे है, वो हमे इलाके से मार भगाने की बात कहते है, एक बार 4-5 मुसलमान लड़के घर की तरफ आये और फिर घर पर थूक कर टिपण्णी करते हुए चले गए 





ऋचा के पिता ने ये भी बताया की जब उन्होंने पुलिस वालो से शिकायत करी की स्थानीय मुसलमान हमे प्रताड़ित कर रहे है तो पुलिस वालो ने उल्टा उनको ही बुरा भला बोला और जिसके बाद उन्होंने पुलिस से कहा की - हम सबको ही गोली मार दो 

ऋचा और उनके परिवार का जीवन रांची में अब नर्क सामान हो चूका है, परिवार खुलकर बता रहा है की स्थानीय सरकार, स्थानीय मुसलमान और पुलिस ने उनका जीना दूभर कर दिया है और उनके परिवार को अब कुछ समझ नहीं आ रहा की वो क्या करें और क्या नहीं