भागलपुर में शबे बारात से रोका तो मुस्लिम भीड़ ने सुरक्षाबलों पर किया हमला, कईयों को लहूलुहान किया


देश में कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है, रोज आने वाले नए मामले भी बढ़ता जा रहा है और इसी कारण सरकार अब लॉक डाउन को भी बढाने पर विचार कर रही है, पर मुस्लिम मजहब के लोग समझने का नाम नहीं ले रहे है 

9 अप्रैल की रात को शब-ए-बारात का मुस्लिम त्यौहार था, इस देश भर में मुस्लिम समाज से अपील की गयी थी की घरों में ही शब-ए-बारात मनाये, बाहर निकलने से कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा है, इस से पहले हिन्दुओ के त्यौहार राम नवमी, हनुमान जयंती, इसके अलावा जैनियों के त्यौहार महावीर जयंती पर भी घरों से न निकलने की अपील की गई थी, और लोगो ने उसका पालन किया था 

पर मुस्लिम मजहब के लोग कई स्थानों पर नहीं माने और प्रशासन का सहयोग करने से इंकार करते हुए घरों से निकले और कब्रिस्तान में पहुंचे, ऐसा बिहार के भागलपुर में रखा गया, प्रशासन ने इनको रोकने की कोशिश की तो मुस्लिम समाज के लोगो ने सुरक्षा बालों पर हमला कर दिया 

घटना भागलपुर के हबीबपुर स्थित कब्रिस्तान में घटित हुई, जहाँ मुस्लिम समाज के लोग जमा होने लगे, पुलिस और होम गार्ड ने इनको रोकने की कोशिश की तो इन्होने भीड़ बनाकर हमला कर दिया, जिसमे कई जवान लहुलुहान हो चुके है

अब इलाके में तनाव का माहौल है, वहीँ भारी मात्र में पुलिस बल को तैनात किया गया है, ये भी जानकारी सामने आई है की मुस्लिम भीड़ ने पुलिस पर न केवल पत्थरबाजी की है बल्कि फायरिंग भी की गयी है, जिस से साफ़ होता है की भीड़ अपने साथ बंदूकें लेकर भी चल रही थी, यानि पहले से दंगे फसाद की योजना थी