क्वारेंटाइन सेण्टर में चींखा सिराज अहमद - मैं नहीं खाऊंगा दलित के हाथ से बना खाना, की भद्दी हरकतें


एक तो देश में कोई योगदान नहीं, ऊपर से देश में अत्नक और दहशत फैलाने का काम, और तो और खाना भी इनको दलितों के हाथ से बना नहीं चाहिए

मामला है उत्तर प्रदेश के कुशीनगर का जहाँ 35 साल के एक मुसलमान शख्स को क्वारेंटाइन सेण्टर में रखा गया है, इसका नाम है सिराज अहमद 

ये क्वारेंटाइन सेण्टर कुशीनगर के खड्डा तहसील के भुजौली खुर्द गाँव का है, सिराज अहमद दिल्ली से लौटा था, प्रशासन को उसके संक्रमित होने का शक था तो उसे क्वारेंटाइन सेण्टर में रखा गया था 

अब इस स्थान पर गाँव की दलित महिला लीलावती देवी ने खाना बनाया ताकि सभी लोगो को वो खाना दिया जा सके, पर सिराज अहमद ने भद्दी हरकतें करते हुए खाना खाने से इंकार कर दिया 

चिल्लाते हुए सिराज अहमद ने खाना नहीं खाया क्यूंकि लीलावती देवी दलित है और सिराज अहमद दलित के हाथ का बना खाना नहीं खा सकता 

सिराज अहमद मजहबी उन्माद मचाता की उस से पहले उसकी शिकायत पुलिस से की गयी, फिर पुलिस ने आकर सिराज अहमद को हिरासत में ले लिया 


दलित परिवार के घर खाना खाते विजय दुबे 

मामले की जानकारी स्थानीय बीजेपी सांसद विजय दुबे को भी हुई, सिराज अहमद की भद्दी और घटिया हरकत से दलित परिवार सदमे में था, विजय दुबे वहां पहुंचे और फिर खाना खाया ताकि दलित परिवार का टूटा हुआ मनोबल सही हो सके