होटल चलाने वाले अब्दुल और अमजद ने ग्राहकों को खाने में इंसानी टट्टी मिलाकर खिलाया


कहीं पेशाब, कहीं थूक तो अब टट्टी भी, आप इसे कौन सा जिहाद कहेंगे, कौन सा आतंकवाद कहेंगे ये आपके ऊपर है, पर ये खबर आपके और आपके परिवार के सदस्यों के लिए बहुत जरुरी है क्यूंकि आप सब भी बाहर ढाबे, रेस्तरा, होटल इत्यादि में खाना खाते ही होंगे और आप ये कभी नहीं देखते होंगे की ढाबा, रेस्तरा, होटल मजहबी उन्मादियों का है या किसी और का 

जिन दोनों उन्मादियों की तस्वीर आप ऊपर देख रहे है उसमे पहले वाले का नाम है मोहम्मद अब्दुल बासित, तो दुसरे का नाम है अमजद

ये दोनों लम्बे समय से होटल चला रहे थे, जहाँ लोग बैठकर या फिर खाने को घर ले जाकर खाते थे, इन दोनों को गिरफ्तार कर जेल में बंद किया गया और कारण जानकार आपके होंश उड़ जायेंगे 

दरअसल इनके कुछ 150 के करीब ग्राहकों ने अलग अलग तरह के इन्फेक्शन की बात डाक्टरों से कही, अब जांच की गयी तो पता चला की सबको Food Poisoning है, जांच में सामने आया की जो खाना इन लोगो ने खाया था उसमे इंसानी टट्टी थी 

एक 13 साल की लड़की को तो ऐसा इन्फेक्शन हो गया की उसे ICU में भर्ती करवाना पड़ा, बड़ी मुश्किल से डाक्टरों ने उसकी जान बचाई 


अब इन सभी 150 लोगो में एक ही कॉमन चीज पायी गयी और वो ये की इन सभी ने खैबर पास कबाब शॉप से खाना ख़रीदा था, फिर जांच टीम अचानक इस होटल भी पहुँच गयी और बने हुए खाने को जप्त किया गया तो पता चला की उसमे भी इंसानी टट्टी मिली हुई है


इसके बाद होटल चलाने वाले मोहम्मद अब्दुल बासित और अमजद को गिरफ्तार किया गया, घटना ब्रिटेन के नाटिंघम का है, दोनों को गिरफ्तार करने के बाद अदालत में पेश किया गया जिसके बाद इनपर मामला चल रहा है, दोनों पर 28 हज़ार पौंड यानि करीब 27 लाख भारतीय रुपए का जुर्माना भी लगाया गया है 



जानकारी ये भी सामने आई की होटल में 2 अलग अलग जगह पर खाना बन रहा था, एक स्थान पर स्वच्छ खाना बन रहा था वहीँ दुसरे स्थान पर बन रहे खाने में इंसानी टट्टी मिली मिलाई जाती थी, जब उन्मादी लोग खाना खाने आते तो स्वच्छ स्थान पर बने खाने को दिया जाता, पर जब दुसरे लोग खाना खाने आते तो टट्टी मिलाए हुए खाने को परोसा जाता, अब आप इसे कौन सा आतंक कहते है ये आपके ऊपर है full-width