शर्मनाक कारनामा : राजदीप सरदेसाई ने हिन्दुओ के त्यौहार दीपावली को दी गाली, फिर की गिरी हरकत



वैसे राजदीप सरदेसाई के लिए ये कोई नयी बात नहीं है, वो अक्सर गिरी हुई हरकतें करते आये है इसी कारण कई बार जब वो आम लोगो के हाथ आये तो आम लोगो ने उन्हें तबियत से पीटा भी है, पर जिस तरह कहावत है की एक कुत्ते की पूँछ कभी सीधी नहीं होती, उसी तरह राजदीप सरदेसाई भी बाज नहीं आते 

हिन्दू और मोदी विरोध के लिए कुख्यात राजदीप सरदेसाई ने अपने अन्दर की नफरत का प्रदर्शन एक बार फिर किया है

दरअसल 5 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी के आवाहन पर देश भर में रात को 9 बजे लोगो ने रौशनी की, कुछ लोगो ने दिए, तो कुछ ने मोमबत्ती तो कुछ ने अलग अलग तरीके से रौशनी की, इसी बीच कुछ लोगो ने फिर से थाली भी पीटी तो कुछ लोगो ने पटाखे भी छोड़े 

अब इसके बाद राजदीप सरदेसाई को इतना गुस्सा आया की उन्होंने हिन्दुओ के त्यौहार दीपावली को ही गाली दे दी, राजदीप सरदेसाई ने दीपावली को "ब्लडी दीपावली" बताया 



सरदेसाई ने हिन्दू त्यौहार दिवाली को 'ब्लडी दिवाली' कहकर बुलाया, यानि खुनी दिवाली, बता दें की दिवाली कभी खुनी नहीं होती, दिवाली पर किसी का खून नहीं बहाया जाता, पर राजदीप सरदेसाई के अन्दर की नफरत इतनी गहरी है की कहीं पटाखे की आवाज सुन ले तो दिवाली को गाली देने लग जाते है

जिन मजहबी त्योहारों पर असल में खून की नदियाँ बहाई जाती है, उन मजहबी त्योहारों पर राजदीप सरदेसाई जैसे लोग सदेव चुप रहते है, पर हिन्दुओ के त्यौहार को बड़ी आसानी से गाली दे देते है