फेसबुक ट्विटर जैसे विदेशी प्लेटफॉर्म्स पर हिन्दुओ की आवाज को दबाया जा रहा है, समय आ गया है की हम खुद के प्लेटफार्म बनाये : कंगना रानौत



ये एक वास्तविकता है की आज भारत में अधिकतर लोग विदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल कर रहे है, चाहे वो फेसबुक हो, ट्विटर हो, इन्स्ताग्राम हो, व्हाट्सऐप हो, या इसी तरह के अन्य सभी प्लेटफॉर्म्स 

और इसके साथ साथ ये भी सच्चाई है की इन विदेशी प्लेटफॉर्म्स पर हिन्दू समुदाय के लोगो की आवाज को कुचल दिया जाता है, राष्ट्रवादी लोगो के एकाउंट्स को सस्पेंड कर दिया जाता है, एकाउंट्स, पोस्ट्स, त्वीट्स को डिलीट कर दिया जाता है या उनपर शैडो बैन लगा दिया जाता है

हिन्दुओ और राष्ट्रवादियों की आवाजों को तो दबाया जाता है पर दूसरी तरह मजहबी उन्मादी और मिशनरी तत्वों को पूरी आज़ादी है, वो देश के प्रधानमंत्री, हिन्दू समाज, हिन्दू धर्म ग्रंथों, देवी देवताओं के खिलाफ बोलने के लिए पूरी तरह स्वतंत्र है 

अब इन विदेशी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स की ताजा शिकार अभिनेत्री कंगना रानौत की बहन रंगोली चंदेल हुई है, रंगोली के ट्विटर अकाउंट को ट्विटर ने फराह खान नाम की मुस्लिम महिला के कहने पर सस्पेंड कर दिया 

फरहा खान और उसके जैसी तमाम मजहबी उन्मादी लगातार देश में साम्प्रदायिकता फैला रहे है पर उनके एकाउंट्स पूरी तरह सुरक्षित है, पर रंगोली चंदेल ने फरहा खान को जवाब दिया तो उनका अकाउंट सस्पेंड कर दिया गया 

इस मामले पर अभिनेत्री कंगना रानौत ने भी अपना बयान जारी किया, जिसे आप देखिये और सुनिए 

कंगना ने वही बातें कही जो आम तौर पर इस देश का हिन्दू और राष्ट्रवादी समाज आये दिन सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर देख रहा है, उन्होंने ये भी कहा की अब समय आ गया है की हम अपना सोशल मीडिया प्लेटफार्म बनाये जहाँ हिन्दुओ और राष्ट्रवादियों को भी लिखने और अपनी बात रखने की स्वतंत्रता हो