IMF ने 25 देशों को दी कर्ज माफ़ी, पाकिस्तान को किया गया बाहर, कोई राहत नहीं



नरेंद्र मोदी जब भारत के प्रधानमंत्री बने थे तब उन्होंने पाकिस्तान को एक बात कही थी, उन्होंने कहा था की अब भी समय है, चलो मिलकर गरीबी अशिक्षा के खिलाफ लड़ते है, अपने अपने देश में विकास करते है

पर पकिस्तान ने मोदी की शांति वाली भाषा को नहीं समझा और उसके बाद से ही मोदी ने पाकिस्तान के नट बोल्ट ही टाइट कर दिए

कोरोना संकट काल में दुनिया की इकॉनमी ठप्प सी पड़ी हुई है और इस बीच कोरोना का बहाना लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान काफी लम्बे समय से हाथ जोड़ जोड़ कर दुनिया के अमीर देशों से कर्ज माफ़ी की विनती करते नजर आये है

पिछले 1 महीने से इमरान खान ने 7 से भी ज्यादा बाद अमीर देशों से कर्ज माफ़ी की गुहार लगाई है, और अब पाकिस्तान को IMF से बड़ा झटका मिल गया है

दरअसल IMF ने 25 गरीब देशों को कर्ज माफ़ी देने की घोषणा कर दी है, इन देशों के कई कर्जों को IMF माफ़ करेगा, इन 25 देशों में तमाम गरीब देश शामिल है जो आर्थिक तंगी से जूझ रहे है, पर IMF ने पाकिस्तान को कोई कर्ज माफ़ी नहीं दी, पाकिस्तान को कर्ज माफ़ी की लिस्ट से बाहर कर दिया

मोदी सरकार का साफ़ कहना है की जो देश परमाणु हथियार रखता है, परमाणु हमले की धमकी देता है, सेना पर अरबों रुपए खर्च करता है, जिस देश के पास गोला बारूद पर खर्च करने के लिए पैसे है, आतंकवादियों का ट्रेनिंग कैंप चलाने के पैसे है, ऐसे देश को कर्ज माफ़ी नहीं मिलना चाहिए, और पाकिस्तान एक ऐसा ही देश है 

IMF ने भी भारत की बातों पर ध्यान दिया और पाकिस्तान को 25 देशों की लिस्ट से बाहर कर दिया जिन्होंने कर्ज माफ़ी के लिए IMF के सामने विनती की थी