WHO पर बड़े एक्शन की तैयारी, अमेरिका रोकेगा फंड, गिरफ्तार भी किया जा सकता है WHO चीफ



अमेरिका इस समय कोरोना से सबसे ज्यादा पीड़ित है, वहां पर 5 लाख से भी ज्यादा लोगो को अब कोरोना हो चूका है और मरने वालो का आंकड़ा भी लगातार बढ़ रहा है, अमेरिका की सरकार इसे लेकर अब बहुत आक्रोशित है और अमेरिका WHO पर कार्यवाही करने के संकेत दे रहा है

WHO ने चीनी वायरस को लेकर चीन को जनवरी में क्लीन चिट दी थी, WHO ने कोरोना वायरस को लेकर बहुत बुरा काम किया और दुनिया को इस वायरस के बारे में बताने में भी काफी देर की, इसके अलावा WHO पर चीन की चमचागिरी करने के आरोप भी लग रहे है और वर्तमान WHO चीफ को चीन का एजेंट भी बताया जा रहा है

डोनाल्ड ट्रम्प ने हाल में ही बयान देते हुए कहा है की - WHO ने बहुत बुरा काम किया है और अमेरिका जिसकी तरफ से WHO को सबसे ज्यादा फंड मिलता है उस फंड को रोका भी जा सकता है

इसके अलावा जानकारी ये भी है की अमेरिका या यूरोप के किसी देश की कोर्ट में WHO पर केस भी दर्ज किया जा सकता है और उनकी गिरफ़्तारी भी की जा सकती है, अमेरिका के अलावा चीनी वायरस से सबसे ज्यादा पीड़ित यूरोप ही है

इसके अलावा खबर ये भी है की अमेरिका संयुक्त राष्ट्र में कोरोना वायरस की उत्पत्ति को लेकर चर्चा भी चाहता है, वहां की एक बड़ी नेता निक्की हेइली भी इसकी मांग कर चुकी है

जानकार मान रहे है की यूरोप के देश और अमेरिका अब सिर्फ इस बात का इंतज़ार कर रहा है की किसी भी तरह कोरोना कण्ट्रोल में आ जाये, उसके बाद चीन के खिलाफ बड़ी कार्यवाही होगी और शुरुवात WHO से होगी जिसके चीफ को चीन का एजेंट भी बताया जा रहा है