ये तीनो फैला रहे है देश में झूठ और पैनिक, रेलवे ने नहीं लिया किसी से 1 भी पैसा, नहीं बेचा 1 भी टिकेट



झूठे और बेशर्म लोगो के लिए, गिद्ध और पैनिक की राजनीती करने वाले के लिए ज्यादा लिखने और समय बर्बाद करने की जरुरत नहीं है 

इन लोगो को सीधे तथ्य सामने रखकर बेनकाब करने की जरुरत है, इसलिए हम ये आर्टिकल कम शब्दों में और तथ्यों के साथ लिखेंगे 

खबर फैलाई गयी है की रेलवे मजदूरों से पैसे ले रहा है, उन्हें उनके राज्यों में जाने के लिए पैसे देने पड़ आरहे है, टिकेट लेना पड़ रहा है 

इस खबर को राहुल गाँधी, प्रियंका वाड्रा और सोनिया गाँधी और इनके साथियों ने फैलाई है, एक एक कर देखिये इनके कारनामे को 

देखिये कैसे झूठ और अफवाह उड़ा रहा है राहुल गाँधी 


अब देखिये कैसे झूठ और प्रपंच फैला रही है प्रियंका वाड्रा



और देखिये सोनिया गाँधी तो ये कहने लगी की - मजदूरों के टिकेट के पैसे कांग्रेस पार्टी देगी, मजदूरों से पैसा लेना बंद करो


ये तीनो के तीनो सुबह से ही बेशर्मी भरा झूठ फैला रहे है, इस झूठ से ये देश में पैनिक फैलाना चाहते है और इस झूठ को इनका पूरा आईटी सेल और बिकाऊ पत्रकार मिलकर भी फैला रहे है


अब सच जानिए





रेलवे ने एक भी मजदुर से 1 भी पैसा टिकेट के लिए नहीं लिया है, किसी भी रेलवे स्टेशन पर 1 भी टिकेट नहीं बेचा गया है, और न ही स्पेशल ट्रेन के लिए 1 भी ऑनलाइन टिकेट बेचा गया है 

सभी ट्रेन मजदूरों को फ्री में खाना और पानी भी दे रहे है, एकदम फ्री, सारा खर्चा केंद्र सरकार उठा रही है, खर्चे का 85% पैसा केंद्र दे रही है और 15% पैसा राज्य सरकारों से ले रही है , पर मजदूरों से 1 भी पैसा नहीं लिया गया है, 1 भी टिकेट नहीं बेचा गया है