केजरीवाल ने सिक्किम को अलग देश बताया, भारत का हिस्सा मानने से इंकार, चीन कर रहा सिक्किम पर दावा


इन दिनों चीन भारत से बेहद परेशान है और वो परेशान इसलिए है क्यूंकि उसे अपने यहाँ से विदेशी कंपनियों के कल कारखाने भारत आते दिखाई दे रहे है

भारत पर दबाव बनाने के लिए चीन लगातार भारतीय सीमा पर उन्माद मचा रहा है, चीन ने नए सिरे से अपनी सेनाओं की गतिविधियाँ भी सीमा पर बढ़ा दी है इसके साथ साथ चीनी मीडिया और वहां के नेता भारत के खिलाफ प्रोपगंडा फैलाने लगे है 

चीन की मीडिया और वहां के नेता और अरुणांचल, लद्दाख, सिक्किम पर दावा ठोकने लगे है और उसे अपने देश का हिस्सा बताने लगे है 

वहीँ दिल्ली जो की भारत की राजधानी है यहाँ बैठकर अरविन्द केजरीवाल ने एक नया ही कारनामा कर दिया है

चीन सिक्किम पर दावा ठोक रहा है और केजरीवाल ने सिक्किम को अलग देश बता दिया है, केजरीवाल ने सिक्किम को भारत का हिस्सा मानने से ही इंकार कर दिया है, जरा केजरीवाल की नयी हरकत को देखिये 
अगर आपको गौरव  भाटिया के त्वीट में अख़बार की तस्वीर पूरी नहीं दिखाई दे रही तो हम सिर्फ तस्वीर को भी नीचे लगा रहे है, देखिये



केजरीवाल ने अख़बार में प्रचार छपवाया है जिसमे उसने लिखवाया है "भारत का नागरिक हो या भूटान, नेपाल या सिक्किम की प्रजा हो"

केजरीवाल सिक्किम को भारत से अलग देश बता रहा है, वो भूटान, नेपाल के साथ साथ सिक्किम को भी एक देश बता रहा है, जबकि सिक्किम भारत का राज्य है, सिक्किम के नागरिक भारत के नागरिक है पर केजरीवाल बड़ी ही धूर्तता से देशद्रोही कृत्य को अंजाम देकर देश के खिलाफ गद्दारी कर रहा है 

वैसे ये कोई पहला मामला नहीं है इस से पहले केजरीवाल ने सर्जिकल स्ट्राइक को भी फर्जी बताया था और पाकिस्तान के सुर में सुर मिलाया था, अब ये चीन को खुश करने के लिए सिक्किम को भारत से अलग एक नया देश ही घोषित कर रहा है, इसकी इस हरकत का इस्तेमाल चीनी मीडिया करेगी और वहां कहा जायेगा की देखिये भारत की राजधानी दिल्ली की सरकार भी सिक्किम को अलग देश मानती है, चीन केजरीवाल की हरकत का इस्तेमाल कर अपना प्रोपगंडा चलाएगा