बोकारो में मस्जिद की भीड़ ने बेचारे पुलिस वालो को बहुत मारा, औरतें भी थी हमले में शामिल



झारखंड के बोकारो स्थित पिंड्राजोरा थाना क्षेत्र के नारायणपुर मस्जिद में अलविदा जुम्मे की नमाज अदा करने को लेकर जमकर बवाल हुआ। मस्जिद में नमाज पढ़ने के लिए 100 से अधिक लोगों के जुटान की सूचना पर पहुँची पुलिस पर नमाजियों ने हमला और पत्थरबाजी की।

पुलिस ने लॉकडाउन का हवाला देकर लोगों से सामूहिक रूप से नमाज अदा नहीं करने को कहा। इस बात पर वहाँ मौजूद नमाजी भड़क गए और पीसीआर पर पत्थरबाजी कर दी। इसके बाद पुलिस को अतिरिक्त बल बुलाना पड़ा। गाड़ी चालक सहित तीन पुलिसकर्मी गंभीर रूप से घायल हो गए।

पुलिस को देखते ही नमाजियों ने वैन पर हमला बोल दिया। वैन चालक मुकेश को खींचकर उन्हें पीटकर गंभीर रूप से घायल कर दिया। उपद्रव बढ़ने लगा तो अतिरिक्त पुलिस बल बुलाना पड़ा। इस दौरान महिलाओं ने भी पुलिस से अभद्र व्यवहार और गाली-गलौच की।


किसी तरह से हालात पर काबू पाने के बाद नारायणपुर गाँव में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात कर दिया गया। पुलिस ने ग्रामीणों के साथ बैठक कर लोगों से शान्ति बनाए रखने की भी अपील की। इसी के साथ पिंड्राजोरा पुलिस ने वाहन पर हमला करने वाले आरोपितों की पहचान शुरू कर दी है। बोकारो एसपी ने कहा की फिलहाल मामला पूरी तरह शांत है और माहौल बिगाड़ने वालों को जेल भेजा जाएगा।

गौरतलब है कि बोकारो में महज एक दिन पहले ही कोरोना के पाँच नए मरीज सामने आए हैं। बावजूद इसके कुछ लोगों द्वारा इस तरह से मजमा लगाकर सरकारी और प्रशासनिक प्रयासों को विफल करने की कोशिश की जा रही है।

उल्लेखनीय है कि झारखंड स्थित बोकारो कोरोना वायरस की शुरुआत से ही संवेदनशील रहा है। अप्रैल माह में भी बोकारो जिले के चंद्रपुरा प्रखंड स्थित पिपराडीह गाँव की मस्जिद में रह रहे 14 लोगों को प्रशासन की ओर से क्वारंटाइन सेंटर भेज दिया गया था।