पुलिस पहुंची तो उम्र का हवाला देकर रोने लगा ज़फरुल इस्लाम, करवा रहा था मुस्लिम देशों से भारत पर हमला



केजरीवाल का साथी ज़फरुल इस्लाम अब अपनी मजहबी मानसिकता दिखाने के बाद उम्र का हवाला देकर पतलून में पेशाब कर रहा है 

दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष पद पर बैठा ज़फरुल इस्लाम मुस्लिम देशों से भारत पर हमला करवा रहा था, ये कह रहा था की हम मुस्लिम देशों से भारत की शिकायत कर भारत में जलजला ले आएंगे 

इसके बाद इस मजहबी उन्मादी पर पुलिस ने देशद्रोह के तहत मामला दर्ज किया और इसे पूछताछ के लिए नोटिस दिया 

पर ज़फरुल इस्लाम पुलिस के सामने पेश नहीं हुआ, इसके बाद पुलिस इसके घर पर पहुंची तो ये घर पर नहीं मिला, ज़फरुल इस्लाम दिल्ली के मजहबी उन्मादी इलाके जामिया में रहता है जहाँ पुलिस पहुंची थी 

अब ये उन्मादी उम्र का हवाला दे रहा है - ज़फरुल इस्लाम ने अपने वकील वृंदा ग्रोवर से कहलवाया है की - मेरी उम्र 72 साल है और कोरोना का खतरा है, मैं पूछताछ में शामिल नहीं हो सकता, मुझे कोरोना का खतरा है मैं सीनियर सिटीजन हूँ 

इसके वकील ने ये भी कहा की - अभी ज़फरुल इस्लाम को पुलिस बिलकुल न बुलाये, उनकी उम्र ज्यादा है और पुलिस कोरोना के ख़त्म होने का इंतज़ार करे 

वैसे मजहबी उन्मादी ने उन्मादी धमकी देने से पहले न अपनी उम्र देखि न कोरोना पर जब पुलिस उसे बुला रही है तो वो उम्र और कोरोना दोनों का रोना रो रहा है